भारत एक बहुत आध्यात्मिक देश है। यंहा हिन्दू सभ्यता विश्व की सबसे पुरानी सभ्यता है। यह वेदों ,पुराणों, प्राचीन मंदिरों, धार्मिक स्थलों का देश है। भारत के मंदिरों और देवी देवताओं की प्राचीन एवम दुर्लभ कथाये है जिसे यंहा प्रस्तुत किया गया है। आध्यात्मिक कथाये, दुर्लभ कथाये, मंदिरो की कथाये, ज्योतिर्लिंग की कथाये।

31 December, 2018

भीमशंकर ज्योतिर्लिंग कि कथा। Rare Story of Bhimsankar Jyotirlinga.

भीमशंकर ज्योतिर्लिंग


भीमशंकर ज्योतिर्लिंग भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंगों में से छठा है जो कि महाराष्ट्र में पुणे के पास स्थित है। यह मंदिर बहुत प्राचीन है और पत्थरों से बना हुआ है। इसके आसपास बहुत से कुंड स्थापित है।

भीमशंकर ज्योतिर्लिंग की कथा:

इसकी कथा कुम्भकर्ण के पुत्र भीम की है जो बहुत पराक्रमी उर वीर था। भगवान राम के हाथों उसके पिता की मृतु के पश्चात उसने वह्यमः देव के तपश्या करके प्रसन्न कर लिया जिसजे बाद वो बहुत बलशाली हो गया।
उसने परम शिव भक्त राजा कामरूपपेश को बंदी बना लिया था और अपनी पूजा करने को कहता था परंतु वो शिव भक्त राजा कारागृह में ही भगवान शिव के शिवलिंग स्थापित करके पूजा किया करता था।
जब ये समाचार भीम को पता चला तो वो क्रोधित हो गया और शिवलिंग पर प्रहार करने का प्रयाश करने लगा, तब भगवान शिव प्रगट हो गए और भीम को हुंकार मात्र से भस्म कर दिए।
फिर भक्त के विनती पर वंही लोक हित के लिए स्थापित हो गए, भीम के संहार के कारण इसका भीमशंकर नाम पड़ा।

सारांश Conclusion:

भगवान अपने भक्त की हर परिस्थिति में रक्षा करते है, हर इंसान को भगवान पे पूरी आस्था रखनी चाहिये।

ये कथा आपको किसी लगी अपने सुझाव दे। और शेयर करे।


No comments:

Post a Comment